Hindi
Thursday 18th of August 2022
Articles
ارسال پرسش جدید

ইসলাম ধর্মে ইবাদত এক-অদ্বিতীয় মহান আল্লাহর ইবাদত-বন্দেগী এবং অন্য সকল সত্তার উপাসনা বর্জন মহান নবী-রাসূলদের যাবতীয় শিক্ষার মৌলিক ভিত্তিস্বরূপ। কোন নবীরই শিক্ষা ইবাদতবর্জিত ছিল না।

ইসলাম ধর্মে ইবাদত  এক-অদ্বিতীয় মহান আল্লাহর ইবাদত-বন্দেগী এবং অন্য সকল সত্তার উপাসনা বর্জন মহান নবী-রাসূলদের যাবতীয় শিক্ষার মৌলিক ভিত্তিস্বরূপ। কোন নবীরই শিক্ষা ইবাদতবর্জিত ছিল না।
इस्लाम और सिक्योलरिज़्म आज की दुनिया के दो महत्वपूर्ण दृष्टिकोण (नज़रियात) हैं और इन्हीं की वजह से आज दुनिया दो गुरूप में विभाजित है।इनमें से एक इस्लामी दृष्टिकोण है और ...

करबला मे इमाम हुसैन अ.स. का पहला खुतबा

करबला मे इमाम हुसैन अ.स. का पहला खुतबा
इमाम हुसैन अ.स. अपनी तलवार के सहारे खड़े हुऐ और बा आवाज़े बुलंद फरमायाः मै तुम्हे खुदा का वास्ता देकर पूछता हुँ क्या तुम मुझे पहचानते हो। उन्होने जवाब दियाः आप फरज़ंदे ...

हज़रत ज़ैनब और कर्बला का युद्ध

हज़रत ज़ैनब और कर्बला का युद्ध
हज़रत ज़ैनब और कर्बला का युद्ध क़ामूसुल लोग़त नामी पुस्कत में आया है कि ज़ैनब शब्द की अस्ल “ज़ैन अब” बताई गई है है। यानी अपने पिता का सम्मान और ज़ीनत, सारे इतिहासकारों ने ...

जीवन तथा ब्रह्माड़ मे पशुओ और जीव जन्तुओ की भूमिका 3

जीवन तथा ब्रह्माड़ मे पशुओ और जीव जन्तुओ की भूमिका 3
पुस्तकः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्ला अनसारीयान   3- मधु मख्खी विशेषज्ञो को कथन है किः अधिकांश फूल हर समय अपना रस बाहर नही निकालते, बल्कि उसका भी एक निर्धारित ...

नमाज.की अज़मत

नमाज.की अज़मत
कभी मीसम कभी बूजर ने पढी हे ये नमाज.हर एक हाल मे कंमबर ने पढी हे ये नमाज. तू बहाना ना बना वक़त की मजबूरी कl,नोके नेज़ा पे भी सरवर ने पढी हे ये नमाज. छोड देता हे फ़क़त आरज़ी ...

न्याय और हक के लिए शहीद हो गए हजरत हुसैन

न्याय और हक के लिए शहीद हो गए हजरत हुसैन
मोहर्रम की दसवीं तारीख की इस्लामी कैलेंडर में बहुत अहमियत है। मोहर्रम की दसवीं तारीख से हजरत इमाम हुसैन (रजि.) की पाकीजा शहादत बावस्ता (संबद्ध) है। हजरत इमाम हुसैन यानी ...

इमाम अली रज़ा अ. का संक्षिप्त जीवन परिचय।

इमाम अली रज़ा अ. का संक्षिप्त जीवन परिचय।
हलेबैत न्यूज़ एजेंसी अबना: अबुल हसन अली इब्ने मूसर्रेज़ा अलैहिस्सलाम जो इमाम रेज़ा अलैहिस्सलाम के नाम से मशहूर हैं, इसना अशरी शियों के आठवें इमाम हैं। आपके वालिद इमाम ...

इमाम रज़ा अ.स. ने मामून की वली अहदी क्युं क़ुबूल की?

इमाम रज़ा अ.स. ने मामून की वली अहदी क्युं क़ुबूल की?
अकसर लोगों के दरमियान सवाल उठता है कि अगर अब्बासी खि़लाफ़त एक ग़ासिब हुकूमत थी तो आखि़र हमारे आठवें इमाम ने इस हुकूमत में मामून रशीद ख़लिफ़ा की वली अहदी या या उत्तरधिकारिता ...

इमाम अली रज़ा अलैहिस्सलाम का जनम दिवस

इमाम अली रज़ा अलैहिस्सलाम का जनम दिवस
पैग़म़्बरे इस्लाम के पौत्र और उनके उत्तराधिकारी हज़रत इमाम अली रज़ा अलैहिस्सलाम का शुभ जन्म दिवस है। यह वह महान हस्ती हैं जिन्होंने एक हज़ार साल से अधिक समय पहले ईरान की ...

ग़ीबत

ग़ीबत
ग़ीबत यानी पीठ पीछे बुराई करना है, ग़ीबत एक ऐसी बुराई है जो इंसान के मन मस्तिष्क को नुक़सान पहुंचाती है और सामाजिक संबंधों के लिए भी ज़हर होती है। पीठ पीछे बुराई करने की ...

इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम की शहादत

इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम की शहादत
इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम ने कर्बला की महान घटना के बाद लोगों के मार्गदर्शन का ईश्वरीय दायित्व संभाला। सज्जाद, इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम को एक प्रसिद्ध उपाधि ...

हज़रत ज़ैनब सलामुल्लाह अलैहा

हज़रत ज़ैनब सलामुल्लाह अलैहा
हज़रत ज़ैनब सलामुल्लाह अलैहा का जीवन तथा उनका व्यक्तित्व विभिन्न आयामों से समीक्षा योग्य है। पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम, हज़रत अली अलैहिस्सलाम ...

आशूरा के बरकात व समरात

आशूरा के बरकात व समरात
इस्लाम की फ़तह हुई और मिटने से महफ़ूज़ रहा क्योकि मंसबे इलाही पर ख़ुद ग़ासिब ख़ुद साख़्ता अमीरुल मोमिनीन यज़ीद ने अपने शैतानी करतूतों से इस्लाम के नाम पर इस्लाम को इतना ...

20 सफ़र करबला के शहीदो का चेहलुम

20 सफ़र करबला के शहीदो का चेहलुम
२० सफर सन् ६१ हिजरी कमरी, वह दिन है जिस दिन हज़रत इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम और उनके वफादार साथियों को कर्बला में शहीद हुए चालिस दिन हुआ था। पूरी सृष्टि चालिस दिन से हज़रत इमाम ...

मियांमार के संकट का वार्ता से समाधान हो

मियांमार के संकट का वार्ता से समाधान हो
संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव के प्रवक्ता ने इस बात का उल्लेख करते हुए कि बान की मून ने बयान जारी करके मियांमार में मुसलमानों की हत्या की आलोचना की है, कहा कि हम इस देश के ...

अज़ादारी परंपरा नहीं आन्दोलन है 4

अज़ादारी परंपरा नहीं आन्दोलन है 4
  आशूरा के महाआंदोलन से मिलने वाले पाठ प्रेरणा के स्रोत हैं। सन् ६१ हिजरी क़मरी में पैग़म्बरे इस्लाम के प्राणप्रिय नाती इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम ने जो अमर बलिदान दिया है ...

रजब का चाँद के दिखाई देते ही ईरान और भारत सहित विश्व भर में खुशी का माहौल।

रजब का चाँद के दिखाई देते ही ईरान और भारत सहित विश्व भर में खुशी का माहौल।
स्लामी कैलेंडर में से इबादत के महीने रजब के चाँद के दिखाई देते ही ईरान और भारत सहित विश्व भर में खुशी का माहौल दिखाई देने लगा है और लोग एक दूसरे को इस मुबारक महीने के आने पर ...

हज़रत इमाम हसन असकरी अ.स. का संक्षिप्त जीवन परिचय।

हज़रत इमाम हसन असकरी अ.स. का संक्षिप्त जीवन परिचय।
आज इमाम हसन असकरी की शहादत का दिन है। 8 रबीउल अव्वल को हज़रत इमाम हसन अस्करी अलैहिस्सलाम का शहादत दिवस है। उन्होंने अपनी 28 साल की ज़िन्दगी में दुश्मनों की ओर से बहुत से दुख ...

हज़रत फ़ातिमा सलामुल्लाह अलैहा की इबादत

हज़रत फ़ातिमा सलामुल्लाह अलैहा की इबादत
हज़रत फ़ातिमा सलामुल्लाह अलैहा रात्री के एक पूरे चरण मे इबादत मे लीन रहती थीं। वह खड़े होकर इतनी नमाज़ें पढ़ती थीं कि उनके पैरों पर सूजन आ जाती थी। सन् 110 हिजरी मे मृत्यु ...

ईश्वर के बारे में सकारात्मक विचार के सुपरिणाम

ईश्वर के बारे में सकारात्मक विचार के सुपरिणाम
  ईश्वर के बारे में सकारात्मक विचार, ईश्वर को प्रसन्न करने के मार्ग में व्यवहार करने के लिए मनुष्य को प्रोत्साहित करता है, और सुखमय जीवन एवं नेक कार्य करने के लिए आवश्यक ...