Hindi
Thursday 18th of August 2022
Masoumeen
ارسال پرسش جدید

अमर सच्चाई, इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम

अमर सच्चाई, इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम
ईश्वर की श्रद्धा और उपासना उनके अस्तित्व में इस प्रकार समा गई थी कि वह बड़े ही आश्चर्यजनक और अनुदाहरणीय व्यक्तित्व के स्वामी हो गए थे।ईश्वर का बोध और ईश्वर के प्रति ...

इमाम को आदर्श बनाना

इमाम को आदर्श बनाना
जब इमाम (अस) की सही पहचान हो जायेगी और उनके खुबसूरत जलवे हमारी नज़रों के सामने होंगे तो उस कमाल ज़ाहिर करने वाली उस ज़ात को नमूना व आदर्श बनाने की बात आयेगी।पैग़म्बरे इस्लाम ...

सुन्नियों की पुस्तकें और फ़ातेमा ज़हरा (स) की महानता

सुन्नियों की पुस्तकें और फ़ातेमा ज़हरा (स) की महानता
रसूले की इकलौती बेटी और इमामत एवं रिसालत को मिलाने वाली कड़ी, वह महान महिला जिसकों सारी दुनियां की औरतों का सरदार कहा गया, रसूल जिसका इतना सम्मान करते थे कि आपने उनकी ...

हक़ निभाना मेरे हुसैन का है,

हक़ निभाना मेरे हुसैन का है,
हक़ निभाना मेरे हुसैन का है,दिल ठिकाना मेरे हुसैन का है।  जिसके साये में कायनात है सब,ऐसा नाना मेरे हुसैन का है।  जबसे घर में मेरे सजे है अलम,आना-जाना मेरे हुसैन का ...

इमाम मुहम्मद तक़ी अ. का जीवन परिचय

इमाम मुहम्मद तक़ी अ. का जीवन परिचय
नवें इमाम और इस्मत (अल्लाह तआला की ओर से प्रमाणित निर्दोषिता) के ग्यारहवें चमकते सितारे हज़रत इमाम मुहम्मद तक़ी अलैहिस्सलाम 29 ज़ीकादह सन 220 हिजरी क़मरी को उस समय की हुकूमत ...

कर्बला में औरतों की भूमिका।

कर्बला में औरतों की भूमिका।
अबनाः कर्बला वालों की शहादत और रसूले इस्लाम स.अ के अहलेबैत को बंदी बनाये जाने के दौरान औरतों ने अपनी व़फादारी, त्याग व बलिदान द्वारा इस्लामी आंदोलन में वह रंग भरे हैं जिनकी ...

शिया शब्द किन लोगों के लिए इस्तेमाल होता है।

शिया शब्द किन लोगों के लिए इस्तेमाल होता है।
 अमीरुल मोमिनीन हज़रत अली अलैहिस्सलाम की बिला फ़स्ल इमामत (अर्थात इस्लामी ईशदूत के बाद, बिना किसी फ़ासले के आपको प्रथम श्रेणी में उनका उत्तराधिकारी स्वीकार करना) का ...

पैग़म्बरे इस्लाम (स) और इमाम सादिक़ (अ) के जन्म दिवस

पैग़म्बरे इस्लाम (स) और इमाम सादिक़ (अ) के जन्म दिवस
वर्षों का समय बीत रहा था जब संसार सूखी ज़मीन की भांति महान ईश्वर की असीम कृपा की वर्षा की प्रतीक्षा में था। ज़मीन ऊंच नीच, भेदभाव, जात- पात और अंध विश्वासों के दलदल में ...

अमीरुल मोमिनीन अली अलैहिस्सलाम का जीवन परिचय

अमीरुल मोमिनीन अली अलैहिस्सलाम का जीवन परिचय
नाम व अलक़ाब (उपाधियाँ)आपका नाम अली व आपके अलक़ाब अमीरुल मोमेनीन, हैदर, कर्रार, कुल्ले ईमान, सिद्दीक़,फ़ारूक़, अत्यादि हैं।माता पिताआपके पिता हज़रतअबुतालिब पुत्र हज़रत ...

हज़रत इमाम सज्जाद अलैहिस्सलाम का जीवन परिचय

हज़रत इमाम सज्जाद अलैहिस्सलाम का जीवन परिचय
नाम व अलक़ाब (उपाधियाँ)इमामे सज्जाद अलैहिस्सलाम का नाम अली व आपकी मुख्य उपाधि सज्जाद हैं।माता पिताआपके पिता हज़रत इमामे हुसैन अलैहिस्सलाम व आपकी माता हज़रते शहरबानो ...

बाज़ार और मछली की कहानी

बाज़ार और मछली की कहानी
इमाम मुहम्मद तक़ी (अ.) जिनकी आयु उस समय लगभग नौ साल थी एक दिन बग़दाद के किसी रास्ते पर खड़े हुए थे और कुछ लड़के वहाँ खेल रहे थे कि अचानक मामून की सवारी दिखाई दी सब लड़के डर कर ...

ज़ियारते अरबईन

ज़ियारते अरबईन
सलाम हो हुसैन पर, सलाम हो कर्बला के असीरों पर, सलाम हो कटे हुए सरों पर, सलाम हो प्यासे बच्चों पर, सलाम हो टूटे हुए कूज़ों पर, सलाम हो उन थके हुए क़दमों पर जो चेहलुम पर हुसैन की ...

बच्चों के साथ रसूले ख़ुदा (स.) का बर्ताव

बच्चों के साथ रसूले ख़ुदा (स.) का बर्ताव
ख़ुदा ने बच्चों की सूरत में अपनी एक बहुत बड़ी नेमत इंसान को अता की है और उन की सही तरबीयत और परवरिश का हुक्म दिया है क्यों कि बच्चे ही किसी क़ौम, समाज और मुल्क का फ़्युचर होते ...

शहादते इमाम मोहम्मद बाक़िर अलैहिस्सलाम

शहादते इमाम मोहम्मद बाक़िर अलैहिस्सलाम
इस्लामी इतिहास एसी हस्तियों के अस्तिव के सुसज्जित व भरा पड़ा है जो न केवल अपने काल बल्कि समस्त कालों और पीढियों के लिए सर्वोत्तम आदर्श हैं और इन हस्तियों में सर्वोपरि ...

इमाम मोहम्मद बाक़िर अलैहिस्सलाम का जन्म दिवस

इमाम मोहम्मद बाक़िर अलैहिस्सलाम का जन्म दिवस
आज पवित्र नगर मदीना में इमाम सज्जाद अलैहिस्सलाम का घर प्रकाशवान है। पूरा मदीना नगर इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम के सुपुत्र इमाम मोहम्मद बाक़िर अलैहिस्सलाम के आगमन से ...

ईरान में हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया हज़रत मोहम्मद मुस्तफ़ा स. और इमाम जाफ़र सादिक़ अ. का जन्मोत्सव

ईरान में हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया हज़रत मोहम्मद मुस्तफ़ा स. और इमाम जाफ़र सादिक़ अ. का जन्मोत्सव
अहलेबैत (अ )न्यूज़ एजेंसी अबना : प्राप्त सूत्रों के अनुसार ईरान के सभी छोटे बड़े शहरों में हज़रत मोहम्मद मुस्तफ़ा स. और इमाम जाफ़र सादिक़ अलै. का जन्म उत्सव हर्षोल्लास ...

इमाम हसन अ स की हदीसे

इमाम हसन अ स की हदीसे
इल्म हासिल करो और अगर उसे याद न कर सको तो लिख लो और अपने घरो मे महफूज़ रखो।هَلاكُ الْمَرْءِ فى ثَلاث: اَلْكِبْرُ، وَالْحِرْصُ، وَالْحَسَدُ; فَالْكِبْرُ هَلاكُ الدّينِ،، وَبِهِ لُعِنَ إبْليسُ. وَالْحِرْصُ عَدُوّ ...

इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम के ज़माने के राजनीतिक हालात का वर्णन

इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम के ज़माने के राजनीतिक हालात का वर्णन
इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम की इमामत वाला जीवन बीस साल का था जिसको हम तीन भागों में बांट सकते हैं।1. पहले दस साल हारून के ज़माने में2. दूसरे पाँच साल अमीन की ख़िलाफ़त के ज़माने में3. ...

इमाम तकी अलैहिस्सलाम के मोजेज़ात

इमाम तकी अलैहिस्सलाम के मोजेज़ात
(1) इमाम अली रज़ा (अ.स) की शहादत के बाद मुखतलिफ शहरो से 80 ओलामा और दानिशमंद हज करने के लिये मक्का रवाना हुए। वो सफर के दौरान मदीना भी गए , ताकि इमाम मौहम्मद तक़ी (अ.स) की ज़ियारत भी ...

हज़रत इमाम जाफ़र सादिक़ (अ.) के पवित्र कथन 2

हज़रत इमाम जाफ़र सादिक़ (अ.) के पवित्र कथन 2
तीन गुण, मित्र बनाते हैं, धर्मपरायणता, विनम्रता और दानशीलता।  लोगों के कार्यों की टोह में न रहो अन्यथा तुम बिना मित्र के हो जाओगे।  यदि मनुष्य का मन पवित्र हो जाए तो उसका ...