Hindi
Monday 8th of August 2022
Usoul-Deen
ارسال پرسش جدید

क़यामत पर आस्था का महत्व

क़यामत पर आस्था का महत्व
कार्यक्रम सृष्टि ईश्वर और धर्म को हमने सृष्टि पर चर्चा से आरंभ किया था जिसके दौरान हमने विभिन्न ईश्वरीय गुणों तथा उसके दूतों और उनके लाए हुए धर्म पर चर्चा की और यह बताया कि ...

फिक़्ह के मंबओ मे से एक दलील अक़ल है

फिक़्ह के मंबओ मे से एक दलील अक़ल है
tks mij dgk x;k ml ij x+ksSj djrs gq, gekjk vd+hnk gS %nhus blyke ds vlyh eacvksa es ls ,d nyhy vD+y gS nyhys vD+y ls ;gkW ij ;g eqjkn gsS fd vD+y ;d+huh rkSj ij fdlh pht+ dks igpku ys vkSj mlds ckjs es Q+Slyk djs elyu vxj ;g Q+Zt+ djsa fd dksbZ nyhy gekjs ikl fdrkcks lqUur es ls uk gks]fd tks tq+Ye ] [k+;kur ] >wB ] csxqukgksa dks d+Ry djuk ] pksjh vkSj nwljksa ds gd+ ekjus dks gjke crk, rks ge nyhys vD+y ds t+jh, ls bu lkjh pht+ksa dks gjke dj ...

प्रलय है क्या

प्रलय है क्या
परलोक पर विश्वास के लिए क़यामत व प्रलय का अत्यधिक महत्व है किंतु वास्तव में क़यामत या प्रलय है क्या? प्रलय उस दिन को कहते हैं जिस दिन लोगों के कर्मों का हिसाब होगा और कर्म के ...

हक़ीक़ते इमामत

हक़ीक़ते इमामत
इमामत तन्हा ज़ाहिरी तौर पर हुकूमत करने का मंसब नही है बल्कि यह एक बहुत बलन्दो बाला रूहानी व मअनवी मंसब है। हुकूमते इस्लामी की रहबरी के इलावा दीनो दुनिया के तमाम उमूर में ...

क़ियामत व मौत के बाद की ज़िन्दगी

क़ियामत व मौत के बाद की ज़िन्दगी
हमारा अक़ीदह है कि मरने के बाद एक दिन तमाम इंसान ज़िन्दा होगें और आमाल के हिसाब किताब के बाद नेक लोगों को जन्नत में व गुनाहगारों को दोज़ख़ में भेज दिया जायेगा और वह हमेशा ...

अद्ल

अद्ल
उसूले दीन में अद्ल को तौहीद के बाद शुमार किया जाता है। अद्ल से मुराद यह है कि अल्लाह आदिल (इंसाफ़ वाला) है और किसी पर ज़ुल्म नही करता। ख़ुदा वंदे आलम ...

इमाम हमेशा मौजूद रहता है

इमाम हमेशा मौजूद रहता है
जिस तरह अल्लाह की हिकमत इस बात का तक़ाज़ा करती है कि इंसानों की हिदायत के लिए पैग़म्बरों को भेजा जाये इसी तरह उस की हिकमत यह भी तक़ाज़ा करती है कि पैग़म्बरों के बाद भी इंसान ...

कारक और ईश्वर

कारक और ईश्वर
पश्चिमी बुद्धिजीवी ईश्वर के अस्तित्व की इस दलील पर कि हर वस्तु के लिए एक कारक और बनाने वाला होना चाहिए यह आपत्ति भी करते हैं कि यदि यह सिदान्त सर्वव्यापी है अर्थात हर ...

क़यामत का फ़लसफ़ा

क़यामत का फ़लसफ़ा
क़यामत, अल्लाह तआला की रहमत, दया, हिकमत, नीति और उसके न्याय की नुमाइश का स्थान है इस बारे में क़ुर्आने मजीद में यह फ़रमाता हैः   کَتَبَ عَلَی نَفْسِہِ الرَّحْمَۃَ لَیَجْمَعَنَّکُمْ إِلَی ...

नास्तिकता और भौतिकता

नास्तिकता और भौतिकता
नास्तिकता और भौतिकता का इतिहास बहुत प्राचीन है और ऐतिहासिक तथ्यों के आधार पर यह सिद्ध होता है कि जिस प्रकार प्राचीन काल से ही ईश्वर पर विश्वाश रखने वाले लोग थे उसी प्रकार ...

एक हतोत्साहित व्यक्ति

एक हतोत्साहित व्यक्ति
कभी कभी हमारे जीवन में ऐसी घटनाएं घटती हैं कि जो जाने अन्जाने हमारी भावनाओं को उक्साने का कारण बनती हैं। इनमें से एक, कि जिसका सहन करना अत्यन्त कठिन होता है, हतोत्साह नामक ...

मौत के बाद का अजीब आलम

मौत के बाद का अजीब आलम
हमारा अक़ीदह है कि वह चीज़े जो मौत के बाद उस जहान में क़ियामत,जन्नत ,जहन्नम में रूनुमाँ होंगी हम इस महदूद दुनिया में उस से बाख़बर नही हो सकते चूँकि वह हमारी फ़िक्र से बहुत ...

संभव वस्तु और कारक

संभव वस्तु और कारक
हर निर्भर अस्तित्व या संभव अस्तित्व को कारक की आवश्यकता होती है और इस इस सिद्धान्त से कोई भी अस्तित्व बाहर नहीं है किंतु चूंकि ईश्वर का अस्तित्व इस प्रकार का अर्थात संभव व ...