Hindi
Monday 24th of September 2018
Q & A
ارسال پرسش جدید

सूर –ए- तौबा की तफसीर

सूर –ए- तौबा की तफसीर
पवित्र क़ुरआन के व्याख्याकारों के अनुसार सूरए तौबा का आरंभ बिस्मिल्लाह से न होकर वचन तोड़ने वाले शत्रुओं से विरक्तता से होना, इस गुट के प्रति ईश्वर के प्रकोप और क्रोध को ...

दीन के कामिल होने का ऐलान किस आयत में हुआ है?

दीन के कामिल होने का ऐलान किस आयत में हुआ है?

दीन के कामिल होने का ऐलान किस आयत में हुआ है?
जवाब- सूर-ए- मायदा आयत न. 3

मक्की सूरे किन सूरों को कहा जाता है ?

मक्की सूरे किन सूरों को कहा जाता है ?
मक्की सूरे किन सूरों को कहा जाता है ? जवाब- जो सूरे हिजरत से पहले नाज़िल हुए उनको मक्की कहा जाता है चाहे वह किसी भी मक़ाम पर नाज़िल हुए ...

सबसे पहली वही कब नाज़िल हुई ?

सबसे पहली वही कब नाज़िल हुई ?

सबसे पहली वही कब नाज़िल हुई ?

जवाब- 27 रजब को।

 

सबसे पहले किस सूरे की आयतें नाज़िल हुईं ?

सबसे पहले किस सूरे की आयतें नाज़िल हुईं ?

सबसे पहले किस सूरे की आयतें नाज़िल हुईं ?

जवाब- सूर-ए- अलक़ की पहली सात आयतें।

 

?क़ुरआन मे रसूल के किस सहाबी का नाम लिया गया है ?

?क़ुरआन मे रसूल के किस सहाबी का नाम लिया गया है ?

?क़ुरआन मे रसूल के किस सहाबी का नाम लिया गया है

जवाब- ज़ैद का।

 

?क़ुरआन मे रसूल के किस दुश्मन की नाम लेकर बुराई की गई है

?क़ुरआन मे रसूल के किस दुश्मन की नाम लेकर बुराई की गई है


?क़ुरआन मे रसूल के किस दुश्मन की नाम लेकर बुराई की गई है

जवाब- अबुलहब की।

 

?सूर-ए- दहर किन की मदह में नाज़िल हुआ?

?सूर-ए- दहर किन की मदह में नाज़िल हुआ?

?सूर-ए- दहर किन की मदह में नाज़िल हुआ?

जवाब- सूर-ए- दहर अहलेबैत की मदह में नाज़िल हुआ।

 

सवालः क्या बच्चों के सलाम का जवाब देना वाजिब है?

सवालः क्या बच्चों के सलाम का जवाब देना वाजिब है?
सवालः क्या बच्चों के सलाम का जवाब देना वाजिब है? जवाबः अच्छे बुरे की पहचान रखने वाला बच्चे चाहे वह लड़के हों या लड़कियाँ औरतों और मर्दों की तरह़ उनके सलाम का जवाब देना भी ...

सब लोग मासूम क्यों नहीं हैं?

सब लोग मासूम क्यों नहीं हैं?
सब लोग मासूम क्यों नहीं हैं?ग़ज़ाली एहयाउल क़ुलूब के रजा (आशा) के भाग में लिखते हैं कि इब्राहीम अदहम का कहना है कि एक बार रात के समय मैं ख़ुदा के घर काबे का तवाफ़ कर रहा था, और ...

क़ुरआन पर ज़ेर ज़बर पेश किसने लगाये?

क़ुरआन पर ज़ेर ज़बर पेश किसने लगाये?

क़ुरआन पर ज़ेर ज़बर पेश किसने लगाये?

जवाब- हज़रत अली अलैहिस्सलाम के शागिर्द अबु असवद दौइली ने।