Hindi
Thursday 19th of May 2022
621
0
نفر 0

सीरिया की इस्राईल को चेतावनी, शराफ़त से गोलान से पीछे हट जाओ, वरना पीछे हटने पर मजबूर कर दिया जाएगा

सीरिया की इस्राईल को चेतावनी, शराफ़त से गोलान से पीछे हट जाओ, वरना पीछे हटने पर मजबूर कर दिया जाएगा

सीरिया ने इस्राईल को चेतावनी दी है कि अगर उसने गोलान हाइट्स से अपना अवैध क़ब्ज़ा समाप्त नहीं किया तो दमिश्क़ सैन्य ताक़त के बल पर इस इलाक़े को आज़ाद कराने पर मजबूर होगा।

ग़ौरतलब है कि ज़ायोनी शासन ने सीरिया संकट को हवा देकर और आतंकवादी गुटों का समर्थन करके गोलान हाइट्स को हमेशा के लिए अपने क़ब्ज़े वाले इलाक़ों में विलय का प्रयास किया, इस युद्ध में दाइश समेत आतंकवादी गुटों की अपमानजनक पराजय और इस संकट से दमिश्क़ सरकार के पहले से कहीं अधिक शक्तिशाली होकर बाहर निकलने से ज़ायोनी शासन के इन सपनों पर पानी फिर गया है।

अब इस्राईल लिंडसे ग्राहम जैसे कुछ अमरीकी नेताओं को अमरीकी कांग्रेस में ऐसा प्रस्ताव लाने के लिए तैयार कर रहा है, जिसमें गोलान के क्षेत्र पर इस्राईली क़ब्ज़े को मान्यता प्रदान कर दी जाए।

ग्राहम ने इस्राईली प्रधान मंत्री नेतनयाहू और अमरीकी राजदूत डेविड फ़्रेडमैन के साथ गोलान हाइट्स का दौरा किया है और ज़ायोनी शासन के अधिकारियों से यह वादा किया है कि वह ट्रम्प प्रशासन को इस इलाक़े पर इस्राईली क़ब्ज़े को मान्यता देने के लिए तैयार करने की कोशिश करेंगे।

गोलान हाइट्स सीरिया का एक बहुत ही हरा भरा और उपजाऊ क्षेत्र है। रणनीतिक रूप से भी यह बहुत अहम क्षेत्र है।

1967 में 6 दिवसीय अरब-इस्राईल युद्ध के दौरान इस्राईल ने दो तिहाई गोलान हाइट्स के इलाक़े पर क़ब्ज़ा कर लिया था और 1981 में इसका अवैध अधिकृत इलाक़ों में विलय कर लिया था, लेकिन विश्व समुदाय ने कभी भी इस इलाक़े पर इस्राईल के क़ब्ज़े को औपचारिकता प्रदान नहीं की।

आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में सीरियाई सरकार ने बड़ी संख्या में सैनिकों और स्वयं सेवी बलों को गोलान हाइट्स के इलाक़े में तैनात किया है और यह विषय इस्राईल की प्रमुख चिंताओं में परिवर्तित हो गया है।

इस इलाक़े से सीरियाई सेना और स्वयं सेवी बलों को हटाने के लिए इस्राईल ने पिछले दिनों सीरियाई सैन्य ठिकानों पर कई हवाई हमले किए थे और अमरीका और रूस से भी दमिश्क़ सरकार पर दबाल डालने का आग्रह किया था, लेकिन इस्राईल अपने इस प्रयास में बुरी तरह से विफल हो गया है।

सीरियाई उप विदेश मंत्री फ़ैसल मिक़दाद ने इलाक़े में संयुक्त राष्ट्र संघ के शांति बलों की कमांडर क्रिस्टियन लूंद के माध्यम से तेल-अवीव को चेतावनी दी है कि अगर ज़ायोनी सैनिक गोलान हाइट्स के इलाक़े से पीछे नहीं हटते हैं तो हम इस इलाक़े को आज़ाद कराने के लिए अपनी सैन्य ताक़त का इस्तेमाल करेंगे।   

तेल-अवीव में अमरीका के पूर्व राजदूत मार्टिन एंडिक ने भी ट्वीट करके कहा है कि गोलान, सीरिया का भाग है, और जो कोई भी इसे चुनौती देगा वह आग से खेलेगा।

उन्होंने कहा, अब तक पांच इस्राईली पूर्व प्रधान मंत्री सीरिया के साथ शांति समझौते के बदले गोलान से पीछे हटने के लिए तैयार थे, लेकिन सीरिया ने हर बार इस शर्त को मानने से इनकार कर दिया।

 
621
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:
لینک کوتاه

latest article

180अमरीकियों ने इस्लाम अपनाया
भारत और पाकिस्तान में ईदे ...
क़ुर्अान पढ़ कर किया इस्लाम ...
लंदन की मस्जिद में नमाज़ियों पर ...
हुज्जतुलइस्लाम वल मुस्लेमीन ...
बहरैन, शेख़ ईसा क़ासिम की ...
इस इसाई पादरी ने आखिर अपना धर्म ...
नाइजीरिया, शेख़ ज़कज़की के समर्थन ...
नाइजीरिया में निर्दोष शियों पर ...
सीरिया की इस्राईल को चेतावनी, ...

 
user comment