Hindi
Wednesday 27th of May 2020
  416
  0
  0

आयतुल्ला ख़ुमैनी की द्रष्टि से हज़रत फ़ातेमा ज़हरा सलामुल्लाह अलैहा

आयतुल्ला ख़ुमैनी की द्रष्टि से हज़रत फ़ातेमा ज़हरा सलामुल्लाह अलैहा

हजरत इमाम ख़ुमैनी कहते हैं.बीबी फ़ातिमा मानव जीवन और इस दुनिया के लिऐ गर्व और गौरव है।


आप ऐसी लेडी हैं जो ख़ानदाने वहि के लिऐ गर्व और सम्मान का कारण हैं सूरज की तरह इस्लामी आकाश पर चमकती रहेंगी.इस्लामी इतिहास गवाह है किआप के सम्मान में ख़ुद पैगंबरे इस्लाम (PBUH) खड़े होजाते थे और अत्यअधिक सम्मान करते थे.


अयतुल्ला ख़ुमैनी फरमाते हैं,आपकानूर मानव जात की पैदाइश से हज़ारों वर्ष पहले ख़ल्क़ हुआ.जैसा कि हदीसों से साबि है कि मोहम्मद व आले मोहम्मद स.अ.के अनवारे बा बरकत जनाबे आदम अबुल्बशर की ख़िल्क़त से बहुत पहले ख़ल्क़ हुऐ थे.


फातिमा स.तमाम नब्यों के सिफ़ात और कमालात की मालिक थीं.


इसी तरह हर नमाज़ के बाद आप से मंसूब तस्बीह पढ़ने का बहुत सवाब है जिसे पैगंबर (PBUH)ने बताई थी,इमामे सादिक अ.स. फ़रमाते हैं कि हर नमाज़ के बाद इस तस्बीह का पढ़ना मेरे नज़दीक ऐक हज़ार रक्अत नमाज़ पढ़ने से बेहतर है

  416
  0
  0
امتیاز شما به این مطلب ؟

latest article

    हज़रत इमाम तक़ी अलैहिस्सलाम का जीवन ...
    सबसे बेहतरीन मोमिन भाई कौन हैं?
    नमाज़ के साथ, साथ कुछ काम ऐसे हैं जो ...
    ग़ीबत
    इमाम अली की ख़ामोशी
    हज़रत इमाम सज्जाद अलैहिस्सलाम का ...
    मैराजे पैग़म्बर
    पेंशन
    25 ज़ीक़ाद ईदे दहवुल अर्ज़
    हज़रत इमाम महदी (अ. स.) की शनाख़्त

 
user comment