Hindi
Tuesday 6th of December 2022
0
نفر 0

ईरान को दुश्मन समझने वाले अरब देश मूर्ख हैंः मिस्री राजनीतिज्ञ

इस्राइल और ज़ायोनी सरकार हम अरबों की अकेली दुश्मन है, हमारा ईरान से कोई मतभेद नहीं है

अहलेबैत (अ) न्यूज़ एजेंसी अबनाः प्राप्त सूत्रों के अनुसार अल जज़ीरा टीवी चैनल से सीधे बातचीत करते हुए मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार अब्दुल मुनइम अबुल फ़तह ने फ़िलिस्तीन के संकट हल करने में अरब देशों की भूमिका के हवाले से बातचीत करते हुए कहा कि बहुत सारे अरब देशों ने फ़िलिस्तीनी संकट को ध्यान देने लायक़ नहीं समझा है।
बल्कि कुछ अरब सरकार तो फ़िलिस्तीन के संकट और कुदस के ख़िलाफ़ प्रोपगंडा करने में लगे हुए हैं।
मैं कुछ अरब देशों को ज़ायोनी अरब का नाम देता हूं इसलिए कि वह फ़िलिस्तीन के ख़िलाफ़ प्रोपगंडा करते हैं और कुछ अरब जो यह कहते हैं कि ईरान अरबों का दुश्मन है वह अवश्य ही मूर्ख हैं।
उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि इस्राइल और ज़ायोनी सरकार हम अरबों की अकेली दुश्मन है, हमारा ईरान से कोई मतभेद नहीं है, मेरा यह कहना है कि अरब देशों, ईरान और तुर्की की आपसी एकता से मध्य पूर्व में स्थिरता स्थापित हो सकती है। जब तक इन तीनों लाबियों के बीच खींचातानी रहेगी मध्य पूर्व में स्थिरता का स्थापित होना संभव नहीं है, अतः अरब देशों, ईरान और तुर्की के बीच आपसी बातचीत होनी चाहिए।

0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

आयतुल्लाह सीस्तानी के कार्यालय ...
इस्राईल से सटी सीमा पर ...
इराक़ के सुन्नी क़बीलों ने ईरान ...
दाइश एक कैंसर है जो लेबनान में ...
लखनऊ में मनाया गया क़ुद्स दिवस।
ट्रम्प के नए आदेश को भी अमरीकी ...
मध्य प्रदेशः ट्रेन में धमाका, कई ...
ख़ातेमुलअंबिया एयर डिफेंस के नए ...
इस्राईल का हिज़्बुल्लाह को सबसे ...
इराक़ में सैनिक कार्यवाही में 33 ...

 
user comment