Hindi
Tuesday 13th of April 2021
70
0
نفر 0
0% این مطلب را پسندیده اند

वुज़ू के वक़्त की दुआऐ

वुज़ू के वक़्त की दुआऐ



वह दुआएं जिनका वुज़ू के वक़्त पढ़ना मुस्तहब है।

 

270 वुज़ू करने वाले इंसान की नज़र जब पानी पर पड़े तो यह दुआ पढ़े- बिस्मिल्लाहि व बिल्लाहि व अलहम्दु लिल्लाहि अल्लज़ी जअला अल माआ तहूरन व लम यजअलहु नजसन।

जब कलाईयों तक अपने हाथों को धोये तो यह दुआ पढ़े- अल्लाहुम्मा इजअलनी मिनत तव्वाबीना व इजअलनी मिनल मुतातह्हेरीना।

कुल्ली करते वक़्त यह दुआ पढ़े- अल्लाहुम्मा लक़्क़िनी हुज्जती यौमा अलक़ाका व अतलिक़ लिसानी बिज़िकरिका

नाक में पानी डालते वक़्त यह दुआ पढ़े- अल्लाहुम्मा ला तुहर्रिम अलैया रिबहल जन्नति व इजअलनी मिन मन यशुम्मु रीहहा व रवहहा व तीबहा।

चेहरा धोते वक़्त यह दुआ पढ़े- अल्लाहुम्मा बय्यिज़ वजही यौमा तस्वद्दुल वुजूहु व ला तुसव्विदु वजही यौमा तबयज़्ज़ुल वुजूहु।

दाहिना हाथ धोते वक़्त यह दुआ पढ़ें- अल्लाहुम्मा आतिनि किताबि बियमीनी व अलख़ुलदा फ़ी अल जिनानि बियसारी व हासिबनी हिसाबन यसीरन।

बायाँ हाथ धोते वक़ड्त यह दुआ पढ़ें- अल्लाहुम्मा ला तुतिनि किताबि बिशिमाली व ला मिन वराए ज़हरी व ला तजअलहा मग़लूलतन इला उनुक़ी व आउज़ुबिका मिन मुक़त्तआति न निरानि।

सिर का मसह करते वक़्त यह दुआ पढ़े- अल्लाहुम्मा ग़श्शिनी बिरहमतिका व बराकातिका व अफ़विक ।

पैरों का मसाह करते वक़्त यह दुआ पढ़ें- अल्लाहुम्मा सब्बितनी अला सिराति यौमा तज़िल्लु फ़ीहिल अक़दामु व इजअल सअयी फ़ी मा युरज़ीका अन्नी या ज़ल जलालि व अल इकरामि।

70
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

इस्लाम में औरत का मुकाम: एक झलक
इमाम असकरी अलैहिस्सलाम और उरूजे ...
हज़रत इमाम महदी अलैहिस्सलाम का परिचय
ईश्वरीय वाणी-४
अमीरुल मोमिनीन अ. स.
हज़रत ज़ैनब के शुभ जन्म दिवस के अवसर ...
इमाम हुसैन अ. के कितने भाई कर्बला में ...
हज़रत ज़ैनब सलामुल्लाह अलैहा
हज़रत इमाम हसन अलैहिस्सलाम
मानव जीवन के चरण 7

latest article

इस्लाम में औरत का मुकाम: एक झलक
इमाम असकरी अलैहिस्सलाम और उरूजे ...
हज़रत इमाम महदी अलैहिस्सलाम का परिचय
ईश्वरीय वाणी-४
अमीरुल मोमिनीन अ. स.
हज़रत ज़ैनब के शुभ जन्म दिवस के अवसर ...
इमाम हुसैन अ. के कितने भाई कर्बला में ...
हज़रत ज़ैनब सलामुल्लाह अलैहा
हज़रत इमाम हसन अलैहिस्सलाम
मानव जीवन के चरण 7

 
user comment