Hindi
Wednesday 28th of July 2021
244
0
نفر 0
0% این مطلب را پسندیده اند

अफ़ग़ानिस्तान, काबुल विस्फ़ोट में 8 की मौत, 25 घायल।

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में ऐसे समय एक बम धमाके में कम से कम 8 लोग हताहत और कम से कम 25 लोग घायल हुए हैं कि इससे पहले अमरीकी दूतावास की ओर से 1 मई को यह संभावना जतायी गयी थी कि काबुल सहित अफ़ग़ानिस्तान के अनेक इलाक़ों में आतंकवादी हमले हो सकते हैं।
घायलों में 3 अमरीकी सैनिक भी हैं। यह धमाका बुधवार की सुबह भीड़-भाड़ के समय काबुल के मकरोयान इलाक़े में हुआ।
यह धमाका काबुल में अमरीकी दूतावास के निकट हुआ। समझा जाता है कि इस धमाके का लक्ष्य नेटो के बक्तर बंद वाहनों का काफ़िला था।
मरने वालों में सबके सब अफ़ग़ान नागरिक हैं। धमाका इतना भीषण था कि कई निजी कारें तबाह हो गयीं या बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुयीं।
तकफ़ीरी आतंकवादी गुट दाइश ने इस धमाके की ज़िम्मेदारी ली है और साथ ही दावा किया है कि इस धमाके में 8 अमरीकी सैनिक मारे गए और अनेक घायल हुए।
काबुल से संवाददाता के अनुसार, आक्रमणकारी ने मकरोयान इलाक़े में अब्दुल हक़ चौराहे के निकट, ख़ुद को विदेशी सैनिकों के बक्तरबंद वाहनों के काफ़िले के सामने उड़ा लिया।
ग़ौरतलब है कि इससे पहले 1 मई को काबुल में अमरीकी दूतावास ने इस बात की संभावना व्यक्त की थी कि अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी सहित इस देश के कई क्षेत्रों में आतंकवादी हमले हो सकते हैं।
अमरीका की ओर से आतंकवादी हमलों की संभावना की बात ऐसे समय में कही जा रही है कि जब हाल ही में अफ़ग़ानिस्तान में अमरीका विरोधी प्रदर्शन हुए हैं।


244
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

सुप्रीम लीडर का संदेश दुनिया के कोने ...
कफ़न चोर की पश्चाताप 6
बच्चों के लड़ाई झगड़े को कैसे कंट्रोल ...
बारह फरवरदीन "स्वतंत्रता, ...
पश्चाताप नैतिक अनिवार्य है 6
पश्चाताप नैतिक अनिवार्य है 3
मानवाधिकारों की आड़ में ईरान से जारी ...
पश्चाताप तत्काल अनिवार्य है 4
इस्लाम धर्म में विरासत का क़ानून
अमरीकी सीनेट में सऊदी अरब का समर्थन ...

 
user comment