Hindi
Thursday 27th of January 2022
534
0
نفر 0

पत्नी का सम्मान।

पत्नी का सम्मान।

अहलेबैत न्यूज़ एजेंसी अबना: पत्नी का सम्मान और उसका आदर आपको छोटा नहीं बना देगा बल्कि आपका इस काम से मोहब्बत और इश्क बढ़ेगा आप जितना दूसरों का सम्मान करते हैं उतना ही बल्कि उससे ज्यादा अपनी पत्नी का सम्मान करें जब भी उससे बात करें प्यार मोहब्बत से बात करें औरत भी मर्द की तरह अपने आप को चाहती है इसलिए वह अपने व्यक्तित्व की सुरक्षा और सम्मान की इच्छुक होती है वह चाहती है कि वह दूसरों की निगाहों में प्रिय और प्रतिष्ठित रहे। जब कोई उसका अपमान करता है तो उसे दुख पहुंचता है अगर उसका सम्मान किया जाए तो वह अपने व्यक्तित्व के प्रति गर्व करती है और जिंदगी के कामों में व्यस्त हो जाती है सम्मान करने वाला उसकी निगाहों में सम्मानजनक और आदरणीय है और अपमान करने वाला उसकी निगाहों में तुच्छ है आपकी पत्नी को आपसे उम्मीद है कि दूसरों से ज्यादा आप उसका सम्मान करें अगर चाहिए यह उम्मीद उसका अधिकार है क्योंकि वह आपको अपना जीवनसाथी और अपना सबसे बड़ा हमदमो गमख्वार मानती है| दिन रात आप और आपके बच्चों की सेवा में लगी रहती है क्या उसका यह भी अधिक अधिकार नहीं बनता कि आप उसके वजूद को गनीमत जानते हुए उसका सम्मान करें उसका सम्मान आप को छोटा नहीं बना देगा तू के शब्द द्वारा आप उस को संबोधित ना करें बल्कि हमेशा आप कहकर उसका सम्मान करें कभी भी उसकी बात को मत काटे उस पर हुक्म न चलाएं सम्मान और अदब के साथ उसको बेहतरीन नाम से पुकारने जब बाहर से घर में आएं तो अगर वह सलाम न करें तो आप ही सलाम करने में पहल करें जिस समय आप घर से बाहर जाने लगे तो उससे खुदा हाफिज कहें और जब सफर पर जाने लगें तो उसे अलविदा कहें उसके लिए लेटर लिखें अगर उसका बर्थडे हो तो एक फूलों का गुलदस्ता या कोई दूसरी चीज उसे उपहार में दें दूसरों के सामने उसकी तारीफ करें अपमान से बचे उसके साथ गाली-गलौज ना करें उसका मजाक ना उड़ाएं और यह ख्याल ना करें कि आप चूँकि उसके अपने हैं इसलिए उसे इन सब बातों का बुरा नहीं लगेगा बल्कि उसे तो आपसे इन सब चीजों की बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी इसलिए उसे दुख पहुंचेगा अगरचे वह जुबान से कुछ न कहे| सभी औरतें अपने पतियों से सम्मान की उम्मीद रखती हैं और अपमान से सख्त नफरत करती हैं और औरतों का अपने पतियों के अपमान पर खामोश रहना उनके उनके राजी होने की दलील नहीं है बल्कि यह यकीन रखना चाहिए कि वह दिल से आप से नाराज हैं चाहे जबान से शिकायत नहीं कर रही है अगर आप अपनी बीवी का ऐहतेराम करेंगे तो वह भी आपका ऐहतेराम करेगी और इस तरह आप लोगों के बीच मोहब्बत और प्रेम में और बढ़ोतरी होगी जिसके कारण लोगों के बीच आप दोनों का भी सम्मान किया जाएगा अगर आपने उसका अपमान किया और उसके विपरीत उस ने भी अगर आप का कोई अपमान कर दिया तो उसके कसूरवार आप खुद होंगे भाई शादी करने और कमीज खरीदने में जमीन और आसमान का अंतर है वह एक कनीज़ या कैदी बनकर आपके घर नहीं आई बल्कि वह एक आजाद महिला है कि जो एक संयुक्त और सौभाग्यशाली जिंदगी की आधारशिला रखने के लिए आपके घर आई है इसलिए उससे जिन चीजों की उम्मीद आप रखते हैं उन्हीं कामों की उम्मीद वह भी आपसे रखती है आप उससे इस तरह पेश आएं कि जिस तरह आप चाहते हैं कि वह आप से पेश आएं जैसा कि हजरत इमाम जाफर सादिक अलैहिस्सलाम अपने बाबा से यह रिवायत नकल करते हैं कि आप ने फरमाया जो इंसान भी किसी से शादी करे

534
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

इमाम मूसा काजिम की शहादत
इस्लाम का झंडा।
सहीफ़ए सज्जादिया में रमज़ानुल ...
ईरान के इस्लामी इंक़ेलाब ने रखी ...
वकीलों की टीम को शैख़ ज़कज़की से ...
तलाक़ के मसले में शिया ...
कैसी होगी मौत के बाद की जिंदगी
एक से ज़्यादा शादियाँ
युसुफ़ के भाईयो की पश्चाताप 4
सुप्रीम लीडर द्वारा आले सऊद की ...

 
user comment