Hindi
Wednesday 26th of January 2022
2678
0
نفر 0

हिजाब के कारण छात्रा को स्कूल से बाहर निकाला।

सेंट जोसेफ कॉलेज में हिजाब पहनने के कारण एक छात्रा को स्कूल से वापस घर भेज दिया गया। भारत के उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के सेंट जोसेफ कॉलेज में हिजाब पहनने के कारण एक लड़की को वापस घर भेज दिया गया। 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा फ़रहीन को हिजाब पहनने की वजह से स्कूल से वापस घर भेजा गया। ठाकुरगंज में स्थित सेंट जोसेफ कॉलेज के प्रिंसिपल अनिल अग्रवाल से
हिजाब के कारण छात्रा को स्कूल से बाहर निकाला।

सेंट जोसेफ कॉलेज में हिजाब पहनने के कारण एक छात्रा को स्कूल से वापस घर भेज दिया गया।
भारत के उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के सेंट जोसेफ कॉलेज में हिजाब पहनने के कारण एक लड़की को वापस घर भेज दिया गया।
9वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा फ़रहीन को हिजाब पहनने की वजह से स्कूल से वापस घर भेजा गया। ठाकुरगंज में स्थित सेंट जोसेफ कॉलेज  के प्रिंसिपल अनिल अग्रवाल से जब इस बारे में कहा गया तो उन्होंने कहा कि स्कूल के नियम के अनुसार धर्म विशेष को ज़ाहिर करने वाले ड्रेस कोड की इजाज़त नहीं दी जा सकती। प्रिंसिपल अनिल अग्रवाल ने कहा कि यहि हिजाब पहनना है तो मदरसे में जाकर पढ़ो।  गुरुवार को लड़की की मां फातिमा वक़ार ने कलेक्टर से मामले की शिकायत की जिसके बाद मजिस्‍ट्रेट जांच के आदेश दे दिए गए हैं। फ़रहीन के परिजनों के अनुसार स्कूल में एडमिशन के समय इस तरह की कोई शर्त नहीं बताई गई थी और न ही कॉलेज से मिले किसी पेपर में ऐसा लिखा है।  लड़की के परिनजों का कहना है कि फ़रहीन के एडमिशन फार्म में भी हिजाब पहने हुए खिंचाई गई तस्‍वीर लगी है। बताया यह जा रहा है कि यह घटना सात मई की है। उस दिन जब फरहीन स्कूल पहुंची तो स्कूल प्रशासन ने उसे आगे से हिजाब न पहनकर आने को कहा। स्कूल प्रशासन का कहना था कि सभी स्टूडेंट्स ड्रेस कोड का पालन करते हैं, इसलिए उसे भी ऐसा ही करना पड़ेगा। इसके जवाब में फातिमा ने कहा कि इस्लाम के मुताबिक़ वह सिर खुला नहीं रख सकती। अगले दिन जब फरहीन फिर हिजाब पहनकर स्कूल पहुंची तो उसे स्कूल परिसर से बाहर निकाल दिया गया। गुरुवार को फ़रहीन की मां फ़ातिमा ने प्रिंसिपल से मिलने की कोशिश की तो उन्होंने मिलने से इनकार कर दिया। फ़ातिमा ने आवेदन देकर कहा कि इस्लामिक नियमों के मुताबिक हिजाब पहनने की इजाजत दी जानी चाहिए। स्कूल प्रशासन ने इसका भी जवाब नहीं दिया और फ़ातिमा के परिवार से कहा गया कि वे अपनी फीस वापिस ले लें।
इस मामले की शिकायत किए जाने के बाद डीएम राजशेखर ने मजिस्‍ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं।


source : abna24
2678
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

पापी तथा पश्चाताप पर क्षमता 4
क्या आप जानते हैं दुनिया का सबसे ...
आतंकवाद की मदद करने वालों को ही ...
अंतर्राष्ट्रीय हजे बैतुल्लाह ...
क्या आपको मालूम है कि कब-कब केला ...
अफ़ग़ानिस्तान में तीन खरब डाॅलर ...
पश्चाताप के लाभ 1
मूसेल में इराक़ी सेना को बड़ी ...
तीन शाबान के आमाल
वहाबी मुफ़्ती ने की अमरीका से ...

 
user comment