Hindi
Wednesday 27th of May 2020
  1955
  0
  0

इराक़ संकट में अमेरिका का बड़ा दखल।

अबनाः इराक़ के हिज़्बुल्लाह संगठन के प्रवक्ता जाफ़र हुसैनी ने अलमयादीन टीवी चैनल से बात करते हुए इराक़ में अमरीका की भूमिका का विरोध करते हुए कहा कि अमरीकी रक्षामंत्री की बग़दाद यात्रा का उद्देश्य यह है कि वाशिंग्टन पूरी दुनिया में यह झूठ का ढिंढोरा पीटे की वह आतंकवाद को पराजित करने में इराक़ का भागीदार है। जाफ़र हुसैनी ने अमरी
इराक़ संकट में अमेरिका का बड़ा दखल।

अबनाः इराक़ के हिज़्बुल्लाह संगठन के प्रवक्ता जाफ़र हुसैनी ने अलमयादीन टीवी चैनल से बात करते हुए इराक़ में अमरीका की भूमिका का विरोध करते हुए कहा कि अमरीकी रक्षामंत्री की बग़दाद यात्रा का उद्देश्य यह है कि वाशिंग्टन पूरी दुनिया में यह झूठ का ढिंढोरा पीटे की वह आतंकवाद को पराजित करने में इराक़ का भागीदार है।
जाफ़र हुसैनी ने अमरीका की ओर से हर प्रकार की शर्त को रद्द कर दिया जिससे मूसिल सिटी की स्वतंत्रता में बधाएं उत्पन्न हों। उन्होंने कहा कि अमरीकी रक्षामंत्रालय की घोषणा के आधार पर अमरीकियों ने फल्लूजा युद्ध से भागने वाले दाइश के कारवां को तबाह करने का विरोध किया था।
ज्ञात रहे कि सोमवार को अमरीकी रक्षामंत्री एश्टन कार्टर ने अपनी औचक इराक़ यात्रा में घोषणा की थी कि अमरीका, मूसिल सिटी की स्वतंत्रता के लिए इराक़ी सेना की सहायता हेतु 560 अमरीकी सैनिक भेजेगा।
यह एेसी स्थिति में है कि इराक़ में स्वयंसेवी बल अलबद्र के कमान्डर हादी आमेरी ने भी अमरीकी रक्षामंत्रालय के इस बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मूसिल सिटी की स्वतंत्रता में अमरीकी सैनिकों की उपस्थिति का विरोध किया था।


source : abna24
  1955
  0
  0
امتیاز شما به این مطلب ؟

latest article

    तेहरान, स्वीट्ज़रलैंड के दूतावास के ...
    स्कूल प्रशालन ने हिजाब पहनने पर लगाई ...
    इस्राईल की जेलों में फ़िलिस्तीनियों ...
    ईरान के इतिहास में पहली बार वरिष्ठ ...
    इस्राईली मीडिया और राजनैतिक ...
    श्रीलंका में लगी बुर्क़े पर रोक
    सुन्नत अल्लाह की किताब से
    स्वतंत्र मीडिया मर्ज़िया हाशमी का ...
    आतंकवाद की मदद करने वालों को ही करना ...
    बुराइयों से दूरी

 
user comment