Hindi
Thursday 2nd of February 2023
0
نفر 0

"मौजूदा दौर में तकफ़ीरी चरमपंथी रुझान का खतरा" नामक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन।

अहलेबैत (अ) समाचार एजेंसी अबना की रिपोर्ट के अनुसार "मौजूदा दौर में चरमपंथी रुझान का खतरा" के नाम से क़ुम में अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन गुरुवार को क़ुम के इमाम काज़िम (अ) में मदरसे आयोजित हुआ। इस सम्मेलन में जो आयतुल्लाह मकारिम शीराज़ी की अध्यक्षता में आयोजित हुआ है, तकफीरियत (चरमपंथ) के विषय पर लिखी गई पुस्तकों और लेखों की प्रतियोगिता में पहला ग्रेड प्राप्त करने वालों को पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस सम्मेलन की पहली बैठक में मशहूर
"मौजूदा दौर में तकफ़ीरी चरमपंथी रुझान का खतरा" नामक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन।

अहलेबैत (अ) समाचार एजेंसी अबना की रिपोर्ट के अनुसार "मौजूदा दौर में चरमपंथी रुझान का खतरा" के नाम से क़ुम में अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन गुरुवार को क़ुम के इमाम काज़िम (अ) में मदरसे आयोजित हुआ। इस सम्मेलन में जो आयतुल्लाह मकारिम शीराज़ी की अध्यक्षता में आयोजित हुआ है, तकफीरियत (चरमपंथ) के विषय पर लिखी गई पुस्तकों और लेखों की प्रतियोगिता में पहला ग्रेड प्राप्त करने वालों को पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
इस सम्मेलन की पहली बैठक में मशहूर हस्तियों जैसे आयतुल्लाह मकारिम शीराज़ी, आयतुल्लाह जाफ़र सुबहानी, आयतुल्लाह तस्ख़ीरी, आयतुल्लाह आराफ़ी, आयतुल्लाह बूशहरी तथा कुछ अहले सुन्नत उलमा ने भाषण दिये।
सम्मेलन के दूसरे हिस्से में मशहूर हस्तियों की मौजूदगी में कुछ इल्मी विषयों पर विशेष सभाओं का आयोजन किया गया।


source : abna24
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

नक्सलियों के गढ़ में पहुंचे मोदी, ...
मूसेल में इराक़ी सेना को बड़ी ...
जवानी के बारे में सवाल
हज़रत दाऊद अ. और हकीम लुक़मान की ...
बहरैनः शासन की बर्बरता के बावजूद ...
अंतर्राष्ट्रीय हजे बैतुल्लाह ...
वहाबियत, वास्तविकता व इतिहास
देहाती व्यक्ति की मूर्ति पूजा से ...
ट्रम्प के साथ अरब नेताओं की बैठक ...
सजदगाह(ख़ाके श़ेफ़ा की)पर सजदह ...

 
user comment