Hindi
Saturday 4th of February 2023
0
نفر 0

भारत में बढ़ती असहिष्णुता पर दर्जनों हस्तियों ने जतायी चिंता

भारत के लगभग 100 वैज्ञानिकों और विद्वानों ने बुद्धिजीवियों, साहित्यकारों और कलाकारों पर बढ़ते दबाव पर गहरी चिंता जतायी है। इरना के अनुसार, भारत की लगभग 100 वैज्ञानिक व साहित्यिक हस्तियों ने शुक्रवार को एक संयुक्त बयान जारी किया जिसमें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को सीमित करने की कोशिशों पर सख़्त एतराज़ करते हुए बल दिया है कि इस देश में असहिष्णुता और विचारकों व विद्वानों पर हमला चिंताजनक हद तक बढ़ गया है।
भारत में बढ़ती असहिष्णुता पर दर्जनों हस्तियों ने जतायी चिंता

भारत के लगभग 100 वैज्ञानिकों और विद्वानों ने बुद्धिजीवियों,  साहित्यकारों और कलाकारों पर बढ़ते दबाव पर गहरी चिंता जतायी है।
 
 
 
इरना के अनुसार, भारत की लगभग 100 वैज्ञानिक व साहित्यिक हस्तियों ने शुक्रवार को एक संयुक्त बयान जारी किया जिसमें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को सीमित करने की कोशिशों पर सख़्त एतराज़ करते हुए बल दिया है कि इस देश में असहिष्णुता और विचारकों व विद्वानों पर हमला चिंताजनक हद तक बढ़ गया है।
 
 
 
इस संयुक्त बयान पर साहित्य एकादमी के पूर्व निदेशक, भारत के आणविक ऊर्जा संस्था के पूर्व चेयरमैन और सेंटर फ़ॉर मॉलेक्यूलर ऐन्ड जेनेटिक साइंस के पूर्व निदेशक शामिल हैं।
 
 
 
ज्ञात रहे कि भारत में एक साहित्यकार व विचारक पर चरमपंथी हिन्दुओं के घातक हमले के बाद भारत के 23 से ज़्यादा साहित्यकार अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सीमित किए जाने के ख़िलाफ़, प्रसिद्ध साहित्य एकादमी पुरस्कार लौटा चुके हैं। (MAQ/N)
 
   


source : irib
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

कैंप डेविड समझौते को निरस्त करने ...
मशहूर शिया विद्वान मौलाना सैयद ...
इस्लाम में पड़ोसी के अधिकार
नक्सलियों के गढ़ में पहुंचे मोदी, ...
मूसेल में इराक़ी सेना को बड़ी ...
जवानी के बारे में सवाल
हज़रत दाऊद अ. और हकीम लुक़मान की ...
बहरैनः शासन की बर्बरता के बावजूद ...
अंतर्राष्ट्रीय हजे बैतुल्लाह ...
वहाबियत, वास्तविकता व इतिहास

 
user comment