Hindi
Thursday 2nd of February 2023
0
نفر 0

अमेरिकी नौसेना ने ईरानी सेना से माफी मांगी

अमेरिका और फ्रांस की नौसेना ने ईरानी नौसेना से माफी मांगी। ईरानी नौसेना का ३४वां युद्धपोत यमन में अदन बंदरगाह से ३० किलोमीटर की दूरी से गुज़र रहा था कि अमेरिका और फ्रांस के हेलीकाप्टर, युद्धक विमान और युद्धपोत ईरान के युद्धपोत अलबुर्ज़ से पांच मील से कम की दूरी पर थे कि ईरानी नौसेना ने कड़ी चेतावनी दी जिसके बाद उन्होंने अपना रास्ता बदल लिया।
अमेरिकी नौसेना ने ईरानी सेना से माफी मांगी

अमेरिका और फ्रांस की नौसेना ने ईरानी नौसेना से माफी मांगी। ईरानी नौसेना का ३४वां युद्धपोत यमन में अदन बंदरगाह से ३० किलोमीटर की दूरी से गुज़र रहा था कि अमेरिका और फ्रांस के हेलीकाप्टर, युद्धक विमान और युद्धपोत ईरान के युद्धपोत अलबुर्ज़ से पांच मील से कम की दूरी पर थे कि ईरानी नौसेना ने कड़ी चेतावनी दी जिसके बाद उन्होंने अपना रास्ता बदल लिया।
इस समय ईरानी नौसेना का ३४वां युद्धपोत बाबुलमंदब जलडमरू मध्य में पहुंच चुका है और वह इस क्षेत्र में गश्त कर रहा है। ईरान का यह युद्धपोत ४०० किलोमीटर की दूरी तय करके अदन की खाड़ी में अंतरराष्ट्रीय स्वतंत्र जल क्षेत्र में है और उसका उद्देश्य ईरान के व्यापारिक जहाज़ों की सुरक्षा है। कई दिन पहले ईरान के इसी युद्धपोत ने एक विदेशी जहाज़ को समुद्री डाकूओं से मुक्ति दिलाई थी। इस व्यापारिक विदेशी जहाज ने यमन के विरुद्ध सऊदी गठबंधन पोतों से बारम्बार सहायता मांगी परंतु उसकी मांग का कोई उत्तर नहीं मिला और ईरानी नौसेना के ३४वें युद्धपोत ने उसे मुक्ति दिलाई


source : abna
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

भारतीय सीईओ पर ट्रंप समर्थकों ...
पवित्र क़ुरआन इस्लामी एकता का ...
वहाबी टोले के बारे में पैग़म्बर ...
हज़रत अली . की नसीहत।
सऊदी राजकुमार ने किया इस्लाम के ...
गत 1 वर्ष में ढ़ाई लाख बच्चों को ...
नुब्बुल और अल-ज़हरा की घेराबंदी ...
ईरान और भारत का सहयोग क्षेत्र के ...
हम इराक़ व सीरिया में शांति ...
मुसलमानों में एकता आजकी सबसे बड़ी ...

 
user comment