Hindi
Saturday 28th of January 2023
0
نفر 0

यमन पर सऊदी अरब के हमले जारी।

अबनाः रिपोर्ट के अनुसार आले सऊद के तथाकथित गठबंधन के प्रवक्ता अहमद अलअसीरी ने शनिवार की रात कहा कि यमन में हमलों को सत्रह दिन हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यमन पर हमले जारी रहेंगे आले सऊद के गठबंधन के प्रवक्ता ने कहा कि यमन पर हवाई हमलों का उद्देश्य यमनी सेना की एंटी एयरक्राफ़्ट क्षमता और बैलिस्टिक मिसाइलों के अड्डों को नष्ट करना है। अलअसीरी ने आले सऊद के हमलों में मरने वाले नौ सौ लोगों की ओर इशारा किए बिना कहा कि आले सऊद और उसके सहयोगियों के
यमन पर सऊदी अरब के हमले जारी।

अबनाः रिपोर्ट के अनुसार आले सऊद के तथाकथित गठबंधन के प्रवक्ता अहमद अलअसीरी ने शनिवार की रात कहा कि यमन में हमलों को सत्रह दिन हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यमन पर हमले जारी रहेंगे आले सऊद के गठबंधन के प्रवक्ता ने कहा कि यमन पर हवाई हमलों का उद्देश्य यमनी सेना की एंटी एयरक्राफ़्ट क्षमता और बैलिस्टिक मिसाइलों के अड्डों को नष्ट करना है। अलअसीरी ने आले सऊद के हमलों में मरने वाले नौ सौ लोगों की ओर इशारा किए बिना कहा कि आले सऊद और उसके सहयोगियों के हमले सैन्य इकाइयों, अदन शहर और शिबवह में सैनिक अड्डों पर केंद्रित रहे हैं और एक दिन में अधिकतम एक सौ बीस हमले किए गए हैं। उधर यमन के सूत्रों ने कहा है कि पिछले चौबीस घंटों के दौरान आले सऊद की आक्रामकता में सनआ, अलजौफ और मआरिब के रिहायशी इलाकों को निशाना बनाया गया जिसमें कम से कम पंद्रह लोग शहीद और तीस घायल हुए हैं। दूसरी ओर सनआ में रूस के दूतावास के प्रवक्ता का कहना है कि इस शहर में रूस का कांसलेट बंद कर दिया गया है और इसके कर्मचारियों मास्को रवाना हो गए हैं।
रूस ने पिछले सप्ताह अदन में अपना कांसलेट बंद कर दिया था और अपने कर्मचारियों को अदन से निकाल लिया था। सऊदी अरब के हमलों में अदन में रूसी वाणिज्य दूतावास को नुकसान पहुंचा है। उधर ख़बर है कि मिस्र की सेना का पहला दल यमन पर हमलों के लिहाज़ से सऊदी अरब तक पहुँच गया है। प्रेस टीवी की रिपोर्ट के अनुसार पांच हजार मिस्री सैनिकों पर आधारित स्पेशल आप्रेशन दल सऊदी अरब पहुंचा है और उन्हें जीज़ान और नजरान शहरों में तैनात किया गया है। जबकि सऊदी अरब में अभी 48 हहज़ार मिस्री सैनिक जाएंगे इस रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब इसी अस्सी हजार सैनिकों के साथ यमन पर जमीनी हमले की तैयारी कर रहा है।
संयुक्त अरब अमीरात के सोलह हजार, कतर और कुवैत के सात सात हजार और बहरैन के पांच हजार सैनिक इस ज़मीनी हमले में भाग लेंगे। राजनीतिक और सैन्य मामलों के विशेषज्ञों का कहना है कि सऊदी अरब दो सप्ताह के बाद यमन पर जमीनी हमले शुरू कर सकता है। यमन और संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों के अनुसार यमन पर आले सऊद की सत्रह दिन के हवाई आक्रमण में कम से कम नौ सौ लोग मारे और हजारों घायल हुए हैं। हताहत और घायल होने वालों में ज्यादातर आम नागरिक, महिलाएं और बच्चे शामिल हैं आले सऊद और उसके सहयोगियों के बर्बर हमलों में लाखों लोग बेघर भी हो चुके हैं।


source : abna
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

नुब्बुल और अल-ज़हरा की घेराबंदी ...
भारतीय सीईओ पर ट्रंप समर्थकों ...
ईरान और भारत का सहयोग क्षेत्र के ...
हम इराक़ व सीरिया में शांति ...
मुसलमानों में एकता आजकी सबसे बड़ी ...
कैलिफोर्निया के मुसलमानो ने ...
आले खलीफा ने अपनी बर्बादी की तरफ ...
अल-अवामिया के शियों के विरूद्ध ...
आयरलैंड में सबसे बड़े इस्लामी ...
कराची में विशेष रूप से छात्रों के ...

 
user comment