Hindi
Sunday 9th of May 2021
288
0
نفر 0
0% این مطلب را پسندیده اند

वा बेक़ुव्वतेकल्लती क़हरता बेहा कुल्ला शैएन 2

वा बेक़ुव्वतेकल्लती क़हरता बेहा कुल्ला शैएन 2

पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन

लेखकः आयतुल्लाह हुसैन अंसारीयान

 

अरबो आकाशी प्राणी, आकाशगंगा और वनस्पति, हैवानात, पशु पक्षी तथा धरती एंव समुद्र के डसने वाले असंख्य कीड़े मकोड़े, वायरस VIRUS और माईक्रोप MICROBE तथा ग़ैबी मोजूदात और वह स्वर्गीदूत जिन से धरती और आकाश भरा हुआ है। इन सब से कौन अवगत हो सकता है, तथा इनकी गणना कौन कर सकता है? कृपालु एंव दयालु ईश्वर ने अपनी बिनिहायत क़ुदरत एंव शक्ति से कुल्लो शैएन प्रत्येक चीज़ पर प्रभुत्व रखता है। कोई भी चीज़ उसकी शक्ति की सीमा रेखा से बाहर नही है तथा बाहर हो भी नही सकती है। आकाश के सितारे, आकाशगंगा तथा उसके गृह, सौरमंडल के बीच प्राणी जिन मे से कुछ का वज़न अरबो एंव खरबो टन बल्कि उससे भी अधिक है, बिना किसी स्तम्भ के लटके हुए है, तथा अपनी निर्धारित गति के साथ अपने समय पर चक्कर लगा रहे है और अरबो वर्षो से गति की स्थिति मे है यह सब ईश्वर की पूर्णशक्ति से सुरक्षित है।  

 

जारी

288
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

इमाम हुसैन अ. के कितने भाई कर्बला में ...
रसूले अकरम की इकलौती बेटी
इमाम हसन(अ)की संधि की शर्तें
इमाम अली रज़ा अ. का संक्षिप्त जीवन ...
दुआ फरज
दयावान ईश्वर द्वारा कमीयो का पूरा ...
नहजुल बलाग़ा में हज़रत अली के विचार
बुरे लोगो की सूची से नाम काट कर अच्छे ...
शियों के इमाम सुन्नियों की किताबों ...
अशीष के व्यय मे लोभ

 
user comment