Hindi
Friday 2nd of October 2020
  41
  0
  0

विश्व कुद्स दिवस मुसलमानों की एकजुटता का प्रतीक है

विश्व कुद्स दिवस मुसलमानों की एकजुटता का प्रतीक है

भारत के मजलिस उलमाये हिन्दके सचिव और एक शीया नेता ने विश्व कुद्स दिवस को जायोनी शासन के अतिग्रहण के मुकाबले में मुसलमानों की एकजुटता का प्रतीक बताया है। मौलाना सैयद जलाल हैदर नक़वी ने दिल्ली में हमारे संवाददाता से वार्ता में कहा कि रमज़ान महीने के अंतिम शुक्रवार का नाम ईरान की इस्लामी क्रांति के संस्थापक की ओर से कुद्स दिवस रखा गया है और इसका एक उद्देश्य जायोनी शासन द्वारा बैतुल मुक़द्दस के गैर क़ानूनी क़ब्जे के प्रति मुसलमानों की आपत्ति को दर्शाना और फिलिस्तीनियों के क़ानूनी अधिकार का समर्थन करना है। उन्होंने कहा कि बैतुल मुक़द्दस की स्वतंत्रता के लिए प्रयास, विश्व के समस्त मुसलमानों का धार्मिक दायित्व है क्योंकि वह पूरे विश्व के मुसलमानों के लिए बहुत महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है। मौलाना सैयद जलाल हैदर नक़वी ने कहा कि इस वर्ष विश्व कुद्स दिवस के अवसर पर हम जायोनी शासन पर दबाव डालना चाहते हैं ताकि वह अंतर्रराष्ट्रीय क़ानूनों का पालन करते हुए इस स्थान से पीछे हट जाये। साथ ही उन्होंने कहा कि जायोनी शासन सोची- समझी नीति के अंतर्गत फिलिस्तीनियों के घरों और वहां के धार्मिक स्थलों को बर्बाद कर रहा है तथा विश्व समुदाय को फिलिस्तीन में होने वाले अत्याचारों पर मूक दर्शक नहीं बनना चाहिये।


source : hindi.irib.ir
  41
  0
  0
امتیاز شما به این مطلب ؟

latest article

बहरैन में शेख अली सलमान से मुलाकात पर ...
पंजाब में "कर्बला की लड़ाई के नतीजे" पर ...
भारत में धार्मिक पत्रिकाओं के ...
सऊदी अरब के 4 सैनिक मारे गए
अल-शबाब ने किया शिक्षा मंत्रालय पर ...
सऊदी अरब हमारा दुश्मन नहींः इस्राईल
बग़दाद में विस्फोट कई हताहत और घायल
पश्चिमी एशिया में ईरान की मौजूदगी का ...
वह स्थान जहाँ अल्लाह ने पहली बार ...
व्हाइट हाउस के सामने फायरिंग

 
user comment