Hindi
Saturday 28th of January 2023
0
نفر 0

विश्व कुद्स दिवस मुसलमानों की एकजुटता का प्रतीक है

विश्व कुद्स दिवस मुसलमानों की एकजुटता का प्रतीक है

भारत के मजलिस उलमाये हिन्दके सचिव और एक शीया नेता ने विश्व कुद्स दिवस को जायोनी शासन के अतिग्रहण के मुकाबले में मुसलमानों की एकजुटता का प्रतीक बताया है। मौलाना सैयद जलाल हैदर नक़वी ने दिल्ली में हमारे संवाददाता से वार्ता में कहा कि रमज़ान महीने के अंतिम शुक्रवार का नाम ईरान की इस्लामी क्रांति के संस्थापक की ओर से कुद्स दिवस रखा गया है और इसका एक उद्देश्य जायोनी शासन द्वारा बैतुल मुक़द्दस के गैर क़ानूनी क़ब्जे के प्रति मुसलमानों की आपत्ति को दर्शाना और फिलिस्तीनियों के क़ानूनी अधिकार का समर्थन करना है। उन्होंने कहा कि बैतुल मुक़द्दस की स्वतंत्रता के लिए प्रयास, विश्व के समस्त मुसलमानों का धार्मिक दायित्व है क्योंकि वह पूरे विश्व के मुसलमानों के लिए बहुत महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है। मौलाना सैयद जलाल हैदर नक़वी ने कहा कि इस वर्ष विश्व कुद्स दिवस के अवसर पर हम जायोनी शासन पर दबाव डालना चाहते हैं ताकि वह अंतर्रराष्ट्रीय क़ानूनों का पालन करते हुए इस स्थान से पीछे हट जाये। साथ ही उन्होंने कहा कि जायोनी शासन सोची- समझी नीति के अंतर्गत फिलिस्तीनियों के घरों और वहां के धार्मिक स्थलों को बर्बाद कर रहा है तथा विश्व समुदाय को फिलिस्तीन में होने वाले अत्याचारों पर मूक दर्शक नहीं बनना चाहिये।


source : hindi.irib.ir
0
0% (نفر 0)
 
نظر شما در مورد این مطلب ؟
 
امتیاز شما به این مطلب ؟
اشتراک گذاری در شبکه های اجتماعی:

latest article

नुब्बुल और अल-ज़हरा की घेराबंदी ...
भारतीय सीईओ पर ट्रंप समर्थकों ...
ईरान और भारत का सहयोग क्षेत्र के ...
हम इराक़ व सीरिया में शांति ...
मुसलमानों में एकता आजकी सबसे बड़ी ...
कैलिफोर्निया के मुसलमानो ने ...
आले खलीफा ने अपनी बर्बादी की तरफ ...
अल-अवामिया के शियों के विरूद्ध ...
आयरलैंड में सबसे बड़े इस्लामी ...
कराची में विशेष रूप से छात्रों के ...

 
user comment