Hindi
Saturday 26th of September 2020
  12
  0
  0

अमेरिका में "इस्लाम और हिजाब" पर संगोष्ठी आयोजित की गई

सामाजिक समूह: अमेरिका टेक्सास विश्वविद्यालय की विशेष रूप से महिला छात्रों द्वारा इस्लामी पोशाक के बारे में इस्लाम के दृश्य पर संगोष्ठी विश्वविद्यालय में आयोजित की गई थी.

ईरान के कुरान समाचार एजेंसी (IQNA) संयुक्त राज्य अमेरिका श्क्षेत्र की शाखा अनुसार,इस सेमिनार में जो कि शुक्रवार 22 फ़रवरी को आयोजित किया गया, प्रोफेसरों और मुस्लिम महिला छात्रों ने साथ मिलकर एक बयान दियाः इस्लाम सिर्फ संस्कृति नहीं है, बल्कि एक धर्म है मुस्लिम राष्ट्र नहीं है, बल्कि इस्लाम के अनुयायि हैं, तथा मुस्लिम महिलाऐं और लड़कियां मज़्लूम नहीं हैं बल्कि मुक्त हैं.

इसके अलावा यास्मीन अली, टेक्सास विश्वविद्यालय के मेडिकल स्कूल की मुस्लिम छात्रा ने कहाः पश्चिमी लोगों का मानना है कि मुस्लिम महिलाओं पर अत्याचार होता है और अनपढ़ हैं, लेकिन इस तरह के धारणाऐं और विश्वास मुस्लिम महिलाओं की सच्चाई से दूर है.

संगोष्ठी के अंत में मिरांडा Mnjyh, विश्वविद्यालय की एक और मुस्लिम छात्रा जो ईसाई परिवार में पैदा हुई थी, और दो साल अनुसंधान के के बाद इस्लाम में परिवर्तित होगई व बाहिजाब थी दोहराया, हिजाब महिला के महदूद होने का नाम नहीं है बल्कि सुरक्षित माहौल में महिलाओं को बौद्धिक विकास और वृद्धि प्रदान करता है.


source : http://iqna.ir/
  12
  0
  0
امتیاز شما به این مطلب ؟

latest article

आयतुल्लाह ख़ामेनई ने तेहरान में ...
अमेरिका का मध्यपूर्व से कोई संबंध ...
आदम खोर नहीं, शेर खोर हैं यहां के लोग!!!!
इराक़ को बांटने का प्रयास किया जा रहा ...
सीरियाई सेना ने कंसबा क्षेत्र को ...
बहरैन में धर्मगुरूओं की गतिविधियों ...
सीरिया में मक़ामे इब्राहिम (अ.स) नष्ट ...
महाराष्ट्र में मुसलमानों का आरक्षण ...
मिस्री कोर्ट ने अपमानजनक फिल्म बनाने ...
सऊदी मुफ़्ती की बकवास: आशूर के दिन ...

 
user comment