Hindi
Tuesday 26th of March 2019
  2529
  0
  0

जनरल असेम्बली की छठी बैठक में सुप्रीम लीडर की उपदेशों पर आधारित वीडियो क्लिप दिखाई गई।

जनरल असेम्बली की छठी बैठक में सुप्रीम लीडर की उपदेशों पर आधारित वीडियो क्लिप दिखाई गई।

अहलेबैत (अ) समाचार एजेंसी अबना की रिपोर्ट के अनुसार विश्व अहलेबैत (अ) परिषद की जनरल असेम्बली के छठे सम्मेलन और इमाम सज्जाद अलैहिस्सलाम पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में ईरान के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई का संदेश पढ़ कर सुनाया गया।
इस संदेश में वैचारिक व बौद्धिक नींव को मजबूत बनाने और मुसलमानों के बीच एकता पर आधारित अहलेबैत अ. के वास्तविक नारों पर अमल करने की ताकीद की।
सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई ने यह बयान करते हुये कि मासूमीन अ. की पूरी ज़िंदगी तलाश और कोशिश पर आधारित थी फ़रमाया ज़िंदा इस्लाम की उन्नति, शुद्ध और हर एक के लिये समझ में आने वाली विचारधारा अहलेबैत अ. का नारा है इसलिये वैचारिक व बौद्धिक नींव को मजबूत बनाने की ज़रूरत है।
सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई ने कहाः हमारा विश्वास है कि इस्लामी राष्ट्र सभी मैदानों संयुक्त मुद्दों में आपस में मिलजुल कर बैठ सकते हैं और आज शिया व सुन्नी की बहेस छेड़ी जाती है जबकि मुद्दा केवल दो मज़हबों के बीच नहीं है बल्कि इस्लाम दुश्मन ताक़तों ख़ास कर ब्रिटेन ने अनेक फिरके खुद सुन्नियों के बीच भी बना दिये हैं जो आपस में एक दूसरे से भिड़ते रहते हैं।
सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई ने कहा- इंग्लैड का पुराना हथकंडा यही है कि सभी धर्मों को आपस में भिड़ाओ और उन्होंने इस विषय पर काम किया है तथा कमज़ोर प्वाइंट को परखने के बाद उससे फ़ायदा उठाया है।
सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई ने ताकीद की इस्राईल व अमेरिका की ख़ुफ़िया एजेंसिया इस्लामी फिरकों के बीच मतभेद व फूट डालने की कोशिश में ली रहती हैं जबकि ईरान के इस्लामी इंक़ेलाब और अहलेबैत अ. के चाहने वालों का सौभाग्य मुसलमानों के बीच एकता और भाईचारे में निहित है।
आपने फ़रमाया आज इस्लामी दुनिया को आपसी गठबंधन की सख़्त ज़रूरत है और हमें शिया होने के नाते इसकी पूरी कोशिश करनी चाहिए।
ग़ौरतलब है यह वीडियों क्लिप जनरल असेम्बली की पिछली बैठकों में सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई की मेहमानों से मुलाक़ात में दिये गए भाषणों से बनाई गई थी।
गौरतलब है कि विश्व अहलेबैत (अ) परिषद की जनरल असेम्बली की छठी बैठक जिसका शीर्षक इस्लामी उद्देश्यों को आगे बढ़ाने के लिए एकजुटता और तालमेंल है, कल शनिवार से तेहरान में शुरू हुई है जिसमें एक हजार के करीब महत्वपूर्ण शिया हस्तियों ने भाग लिया है।
इससे पहले इसी बैठक में इराक़ के पूर्व प्रधान मंत्री और वर्तमान उपराष्ट्रपति नूरी मालेकी ने भी भाषण दिया।
उन्होंने कहा: इस्लामी रिपब्लिक ईरान, इस्लामी इंक़ेलाब की लीडरशिप में अहलेबैत (अ) और उनके अनुयायियों बल्कि सभी मुसलमानों का विभिन्न राजनीतिक और आर्थिक क्षेत्रों में समर्थन करता है हम उसकी कोशिश और प्रयास को सराहते हैं और हमारा भी यही उद्देश्य है। हम शियों के बीच आपसी एकता, अन्य इस्लामी धर्मों से नज़दीक होने का कारण बनेगा। जब तक शियों के बीच एकता पैदा नहीं होगी अन्य धर्मों से निकटता भी संभव नहीं होगी।
इराक के उप राष्ट्रपति ने कहा: इराक के शिया, तकफीरियों की ओर से दुख और संकट में हैं इराक़ में साम्राज्यवादी शक्तियों ने सद्दाम सरकार के पतन होते ही अपने प्रचार शुरू कर दिए और सऊदी अरब और इस्राईल ने अपने मजदूरों का उपयोग करके इराक को विभाजित करने की साजिश रच ली।
इस उद्घाटन समारोह में इराक़ के शिया मरजा आयतुल्लाह बशीर नजफ़ी का संदेश भी पढ़ कर सुनाया गया।
आयतुल्लाह बशीर नजफ़ी का संदेश जो उनके पुत्र के माध्यम से पढ़ा गया उसमें कहा गया है कि विश्व अहलेबैत (अ) परिषद इस्लाम और अहलेबैत (अ) के विचारों के प्रसारण और प्रकाशन के रास्ते में प्रयासरत है जो बहुत बड़ी उपलब्धि है।
इस संदेश में आया है कि विश्व साम्राज्यवाद ने इस्लाम से संबंधित कुछ चरमपंथियों को खरीद लिया है और उन्हें सशस्त्र करके मुसलमानों के नरसंहार पर लगा दिया है। विश्व साम्राज्यवाद, मुसलमानों की पूंजी ख़ास कर तेल से ख़ुद उन्हीं का नरसंहार करा रहा है।
आयतुल्लाह बशीर नजफ़ी ने अपने संदेश के अंत में कहा: चरमपंथी टोलों का मुकाबला करना चाहिए और जो कुछ हम कर सकते हैं हमें इस नासूर की जड़ को ख़त्म करने के लिये करना होगा।


source : abna
  2529
  0
  0
امتیاز شما به این مطلب ؟

latest article

      लीबिया और कई अफ्रीकी देशों में अमरीकी ...
      बूट पालिश करने वाले लूला डिसिल्वा भी ...
      बहरैनी शिया धर्मगुरू आयतुल्लाह ईसा ...
      सीरिया में मिला इस्राईली हथियारों का ...
      अमरीका को अर्दोग़ान की कड़ी चेतावनी, ...
      सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामनई से ...
      सीरिया में चार रूसी सैनिकों की मौत।
      ईरान की जासूसी के लिए तेलअवीव में ...
      इस्राईल सैनिक फायरिंग में तीन ...
      सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई ने ...

 
user comment