Hindi
Wednesday 27th of March 2019
  1281
  0
  0

प्रार्थना पर एक दृष्टि

प्रार्थना पर एक दृष्टि

लेखक: आयतुल्लाह हुसैन अनसारियान

 

किताब का नाम: शरहे दुआए कुमैल

 

·         

·          संपन्न के सामने आवश्यकता का कथन प्रार्थना है।

·          तंगदस्ती, फ़क़्र और ग़रीबी को ग़नीए मुतलक़ एवम ब्रह्माण्ड के मालिक से बयान करना प्रार्थना है।

·          वफादार और करीम से भीख का अनुरोध, कमज़ोर का अटूट क्षमता वाले से सहायता मांगना प्रार्थना है।

·          कमज़ोर, ज़लील, मिसकीन बन्दे का रहीम, मेहरबान, हकीम, लतीफ़ और समीए परवरदिगार से मदद मांगना प्रार्थना है।

·          पवित्र, बलवान, क्षमादान करने वाले, अद्वितीय और ज्ञानि परमेश्वर के प्रति नम्रता और विनम्रता, ख़ाकसारी और ख़ुशू, इनकेसार और ख़ुज़ू, के इज़हार करना प्रार्थना है। 

·          महबूबे खुदा, तपस्सवियो का माशूक़, उरुफ़ा की दिव्य द्रष्टि, पीड़ित और ज़रूरतमंदो के दिल की रोशनी, प्रेमियो का रहस्य प्रार्थना है।

 

जारी

 

 

जारी

  1281
  0
  0
امتیاز شما به این مطلب ؟

latest article

      मानवाधिकार आयुक्त का कार्यालय खोलने ...
      मियांमार के संकट का वार्ता से समाधान ...
      शबे यलदा पर विशेष रिपोर्ट
      न्याय और हक के लिए शहीद हो गए हजरत ...
      ईरान और तुर्की के मध्य महत्वपूर्ण ...
      बहरैन में प्रदर्शनकारियों के दमन के ...
      बहरैन नरेश के आश्वासनों पर जनता को ...
      विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता का ...
      अफ़ग़ानिस्तान से अमरीकी सैनिकों की ...
      इस्लामी क्रांति का दूसरा अहम क़दम, ...

 
user comment